मध्यप्रदेश में बाल अधिकारों की स्थिति-2015 (एक्शन अलर्ट)

बाल विवाह,गुम होते बच्चे और बच्चों के खिलाफ अपराध 

हम सोचते हैं कि ऐसा देश बने जहां बच्चों की सुरक्षा,संरक्षा और उनके विकास के पर्याप्त और बेहतर मौके हों, देश के बच्चे मजबूत हों,मजबूत बचपन से ही देश आगे चलकर43 उतना ही मजबूत होगा,लेकिन जब हम जमीनी स्थितियों को देखते हैं तो पाते हैं कि देश में बचपन की बेहतरी की कोशिशों नाकाफी हैं,आज भी बाल विवाह से लेकर बच्चों के खिलाफ हो रहे अपराधों में हमारी स्थिति चिंताजनक है | यह सबसे बड़ी चुनौती है कि बचपन बेहतर हो,लेकिन देश की नीतियों में इसके लिए सबसे कम जगह है और कोशिशें भी रस्मअदायगी की तरह,इस बीच हम सब जो बच्चों के विकास और उनकी आजादी के लिए संवेदनशील हैं,और उनके लिए कुछ कर गुजरने की सोच रखते हैं यह जानना जरुरी है कि आखिर जमीनी स्थितियां क्या हैं |

प्रकाशक -विकास संवाद ,भोपाल 

वर्ष -2015

Download 

Add comment


Security code
Refresh